Entertainment

Breaking News

बिहार का लाल "राजा ठाकुर" भोजपुरी और हिंदी सिनेमा में कर रहे है कमाल

 बिहार का लाल "राजा ठाकुर" भोजपुरी और हिंदी सिनेमा में कर रहे है कमाल



भोजपुरी सिनेमा जगत में आजकल हर कोई चाहता है, अपना किस्मत आजमाने का ऐसे ही एक शख्स की बात हम कर रहे हैं। जो बिहार के मुजफ्फरपुर जिला के मनियारी थाना क्षेत्र का रहने वाला है। जिसका नाम आजकल खूब सुर्खियां बटोर रहें है। फिलहाल अभी ये अपने लेखन और निर्देशन में बनी एक हिंदी लघु फ़िल्म "वक़्त" का पोस्ट प्रोडक्शन का कार्य उत्तर प्रदेश के बस्ती जिला में करवा रहें हैं। जी हाँ मैं बात कर रहा हूँ लेखक राजा ठाकुर की, राजा ठाकुर से खास बातचीत में उन्होंने बताया कि मैं मुजफ्फरपुर जिले के एक छोटे से गांव हरिशंकर मनियारी का रहने वाला हूँ। मैं एक मजदूर परिवार से हूँ। और घर मे सभी मेरे भविष्य की चिंता करते हुए खुश तो नहीं है लेकिन मुझे काम करने से कभी किसी ने रोका भी नहीं है। और मेरे कार्य मे मेरे परिवार का सुरु से सहयोग और साथ रहा है। वहीँ राजा ठाकुर फ़िल्म को लेके कुछ बातें बताते हैं कि मैं 2017 में अपने गांव में ही कुछ दोस्तों को लेकर एक ड्रामा लिखा और बनाया था। हालाकिं उससे कुछ हुआ नहीं लेकिन मेरे अंदर तभी से फ़िल्म लिखने का एक जुनून सा छा गया। और तब से मेहनत करते आ रहा हूँ। हालांकि अभी भी कोई सही सफलता हाथ नहीं लगी है। लेकिन आशा है कि लड़ने वालों की कभी हार नहीं होती है। और मैं भी एक दिन जीत के दिखाऊंगा। वहीँ राजा ठाकुर से अब तक के काम के बारे में बात किया तो उन्होंने बताया कि मैं सबसे पहले 2018 में मुजफ्फरपुर के एक प्रोड्यूसर के लिए एक भोजपुरी फिल्म प्रतिशोध टाइटल के साथ लिखा था। लेकिन दुर्भाग्य की वो शूटिंग आधा अधूरा ही रह गया। और जब मैं उनसे पैसा मांगा तो मुझे जान से मारने की धमकी भी मिली थी। और आज भी वो कॉल रिकॉर्डिंग मेरे पास सेव रखा है। जिसके बाद मैं वहां से थोड़ा सा मुड़ा, और फिर मैं कुछ गाना बनाया जो मेरे अपने यूट्यूब चैनल Raja Thakur Entertainment पर मिल जाएंगे। फिर मुंबई के एक सरगम भईया के लिए कुछ शार्ट फ़िल्म लिखा जो आपको Ranjan Films Entertainment पर मिल जाएंगे। फिर मैं दिनेश भईया के माध्यम से उत्तर प्रदेश में घुसा और पहली बार सुपरस्टार खेसारी लाल यादव जी के फ़िल्म "बाप जी" के सेट पर आया जो फ़िल्म आज भी यूट्यूब पर देखने को मिल जाएगा। फिर उसके बाद मैं गाना किया जो एक अंतरा सिंह प्रियंका और अंजली भारती के आवाज में है वो आपको Worlwide Records BhojpuriKhesari Music World से रिलीज है। फिर मुझे एक भोजपुरी फ़िल्म "बलमुआ नदिया पार के" लिखने का मौका मिला, जिसमे मैं लेखक और सहायक निर्देशक के रूप में काम किया, जो अभी रिलीज नहीं हुआ है लेकिन बहुत जल्द वो भी आएगा। उसके बाद मुझे मुंबई से एक शार्ट फ़िल्म लिखने का काम मिला जिसका टाईटल "मोबाईल" है जिसमे पूरी टीम bollywood की है। कलाकार की बात करें तो मुस्ताक खान, पंकज बैरी, देव रतन जैसे बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार हैं। जो आपको Disney+hotstar पर देखने को मिल जाएगा। फिर मुझे कुछ गानों के निर्देशन के लिए लखनऊ से काम मिला जो बिगत दिनों 8 अक्टूबर 23 को Lodhi Entertainment से रिलीज हुआ है। जिसके बाद मैं खलीलाबाद में अपने लेखन और निर्देशन में एक हिंदी लघु फ़िल्म "वक़्त" किया शूटिंग के तुरंत बाद एक प्रोजेक्ट चिंटू पांडेय जी की फ़िल्म "शूरवीर" लिखा और उसमें भी एक सहायक निर्देशक का काम किया जो अभी नवंबर 23 में शूटिंग हुई है। बाकी आपलोगों का प्यार और आशीर्वाद मिलता रहा तो आगे भी करता रहूंगा। फिर अंत में मैंने सिनेमा जगत के बारे में पूछा जिस पर उनका बड़ा ही कड़बा जबाब रहा। सिनेमा जगत की बात करूं तो सभी अच्छे और सभी बुरे है। अगर कोई व्यक्ति फ्री में काम कर दे तो बहुत अच्छा और अगर अपने हक का पैसा और क्रेडिट मांग दे तो वो बहुत बुरा हो जाता है। और अक्सर एक चीज हर किसी को सुनने को मिलता है। "तुम इतने बड़े एक्टर/राइटर etc हो गए" मैं कहता हूँ। ये गलत है छोटे बड़े का क्या जिसे जो काम मिलता है वो कर के देता है तो ऐसी बातें नहीं होनी चाहिए। उन्हें भी सोचना चाहिए कि जैसे वो पैसों के लिए काम कर रहे हैं वैसे ही नए लोग भी कोई अपने माँ के गर्व से सुरुआत नहीं किया है। सबने इसी मिट्टी पर पहला दिन बिताया है। तो हर नए कलाकार, लेखक, निर्देशक का सम्मान करना चाहिए और उनका हक भी उन्हें मिलनी चाहिए। बाकी जिसके सर पर प्रभु का हाथ हो उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Featured Post